PM Kisan : किसानों के साथ हो रही ठगी, बचने के लिए कभी न करें ये गलती, वरना हो जायेगा खाता खाली

सरकार पिछले कई सालों से किसानों के लिए विभिन्न तरह की लाभकारी योजनायें चला रही है. जिसमें से एक योजना किसानों को सबसे ज्यादा लाभान्वित करती है वह है पीएम किसान योजना. इस योजना में किसानों को साल भर में 6000 रूपये 3 किस्तों में प्रदान किये जाते हैं. लेकिन हालही में यह सुनने में आ रहा है कि लाभार्थी किसानों के साथ इस योजना के नाम पर ठगी हो रही है. कुछ किसानों के बैंक खाते जालसाजों ने खाली कर दिए है. यदि आप भी इस योजना का लाभ लेने वाले एक लाभार्थी किसान है और अगर इस ठगी से बचना चाहते हैं तो नीचे इस लेख में दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें. यह ठगी से बचने में आपके बहुत काम आयेगी.

pm kisan yojana fraud with farmer

PM Kisan Yojana Detail

टेलीग्राम चैनलयहां क्लिक करें
योजना का नामप्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना
शुरुआत किसने कीभारत सरकार ने
शुरुआत कब हुईसन 2019 में
लाभार्थीकिसान
आवेदनऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरह से
हेल्पलाइन नंबर1800115526, 155261 या 011-23381092

किसानों के साथ ठगी की खबरें

जैसा कि आप सभी ये जानते हैं कि इस योजना के तहत लाभार्थी किसानों के बैंक खाते में 2,000 रूपये हर चार महीने में जमा किए जाते हैं. अब तक किसानों के खाते में 12 किस्तें जमा की जा चुकी है. लेकिन हालही में मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह ख़बरें आ रही है कि कुछ जालसाज किसानों को अपने झासे में फंसा कर उनके खाते से पूरे पैसे अपने खाते में ट्रांसफर कर रहे हैं. और किसानों के बैंक खाते खाली कर रहे हैं.

ठगी से बचने के लिए क्या करे किसान

यदि किसान इस ठगी से बचना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें ये गलतियाँ भूलकर भी नहीं करनी है –

क़िस्त दिलाने वाले की बातों में नहीं आना है

हालही में कुछ किसान ऐसे हैं जिनके खाते में 12 वीं क़िस्त के पैसे नहीं आये हैं. ऐसे में जालसाज उन्हें फर्जी फोन करके उन्हें अपने झासे में फंसा कर उनसे पैसे ले रहे हैं या उनकी बैंक खाते की डिटेल मांगकर उनके खाते खाली कर रहे हैं. ऐसे में किसानों को यह जानकारी दे दें कि क़िस्त के पैसे देने के लिए सरकार कोई पैसे नहीं लेती है. और न ही किसान पैसे देकर क़िस्त के पैसे ले सकते हैं. किसानों को यह चीज ध्यान में रखनी होगी.

फर्जी केवायसी से बचना है

इस योजना में सरकार ने यह नियम लागू किया है कि लाभार्थी को केवाईसी कराना जरुरी है, नहीं तो उन्हें पैसे नहीं मिलेंगे. इस चीज का फायदा उठा रहे हैं किसानों को ठगने वाले जालसाज. वे किसानों से केवाईसी के नाम पर उनकी जरूरी जानकारी ले रहे हैं किसानों को ये ध्यान में रखने की जरुरत है. और उन्हें केवाईसी करानी है, तो वे पीएम किसान योजना की अधिकारिक वेबसाइट में जाकर कराएँ या फिर अपने पास के सीएससी सेंटर में जाएँ.

फर्जी एसएमएस, लिंक या फ़ोन कॉल से बचना है

कुछ जालसाज ठग ऐसे हैं जोकि किसानों को एसएमएस भेजते हैं जिसमें किस्त के आने एवं अपनी जानकारी अपडेट करने जैसा टेक्स्ट लिखा होता है और उसमें एक लिंक दी हुई होती है. जिसके जरिये वे किसानों के बैंक खाते की डिटेल लेने की कोशिश कर रहे हैं. ताकि उनका खाता खाली कर सकें. यह फोन कॉल के जरिये भी किया जा रहा है. किसानों को इससे सावधान रहने की जरुरत है. उन्हें किसी भी लिंक पर क्लिक नहीं करना है. और न ही अपने खाते की जानकारी किसी को देनी है.

किसी से भी फ़ोन पर बैंक खाते अपडेट न करायें

इस योजना में नई अपडेट के आने से ऐसे कई किसान हैं जिनके खाते में 12 वीं क़िस्त नहीं आ पाई है. इसका कारण है किसानों का अपात्र होना या फिर केवाईसी या फॉर्म में गलत जानकारी देना या गलत दस्तावेज अटैच करना. ऐसे में ठग किसानों को योजना के संबंधित अधिकारी बनकर कॉल करते हैं और उनसे उनके बैंक की जानकारी या अन्य जानकारी ले लेते हैं. इसके लिए जरुरी होगा कि किसान किसी भी फोन कॉल में अपने बैंक खाते की डिटेल अपडेट न कराएँ नहीं तो उनका खाता पूरा खाली हो जायेगा.

तो ये थी 4 गलतियाँ जिसके चलते किसानों के बैंक खाते से पैसे निकल रहे हैं. अतः किसानों से सरकार एवं संबंधित कृषि विभाग द्वारा यह अपील की गई है कि वे इस तरह की गलतियों को कभी न करें और सावधान रहें.

होमपेजयहां क्लिक करें
अधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें

इसके बारे में डिटेल में जानने के लिए इस वेब स्टोरी को देखें.

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment