पृथ्वी विज्ञान योजना 2024: 4797 करोड़ के बजट में शुरू की गई नई योजना (PRITHvi VIgyan Scheme 2024)

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

PRITHvi VIgyan Scheme 2024 (Kya hai, Budget, Benefit, Beneficiary, Eligibility, Documents, Official Website, Helpline Number, Latest News, Status) पृथ्वी विज्ञान योजना 2024: बजट, क्या है योजना, कब शुरू होगी, लाभ, लाभार्थी, आवेदन, पात्रता, दस्तावेज, अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर, ताज़ा खबर, स्टेटस

पृथ्वी विज्ञान योजना केंद्र सरकार द्वारा शुरु की गई एक योजना हैं, जिसे इसलिए शुरू किया गया है, क्योंकि हाल ही में क्लाईमेट चेंज से संबंधित बहुत सी आपदाएं सामने आई हैं, उन आपदाओं को समझने के लिए और आने से पहले ही लोगों को अवगत कराने के लिए इस योजना की मंजूरी दी गई है। पृथ्वी विज्ञान योजना के तहत आप लोग यह तो जानते है कि हमारी पृथ्वी में जितनी भी हलचल होती है, उनके बारे में विस्तार पूर्वक अध्ययन किया जायेगा। और जो भी हलचल हो रही है, उसको बताने की पूरी कोशिश की जायेगी। यहाँ पर भूकंप क्लाइमेट चेंज और अन्य जो होती है, इसके बारे में  अध्ययन किया जाएगा। भारत सरकार द्वारा इस योजना को शुरू किया गया हैं, और इसके लिए बजट की भी मंजूरी दे दी गई हैं।

PRITHvi VIgyan Scheme

PRITHvi VIgyan Scheme 2024

योजना का नामपृथ्वी विज्ञान योजना
किसने शुरू कीभारत सरकार ने
कब शुरू की गईसन 2024
लाभदेश की अपदाओ से बचने के लिए किये जायेंगे कार्य
लाभार्थीदेशवासी
अधिकारिक वेबसाइटजल्द ही
हेल्पलाइन नंबरजल्द ही

PM Vishwakarma Yojana

पृथ्वी विज्ञान योजना क्या हैं

इस योजना को जारी करने का मेन मकसद क्लाइमेट चेंज, महासागर ,ध्रुवी विज्ञान एवं भूकंप विज्ञान, क्षेत्रों में काम करने के लिए किया गया हैं, और यह भी बताया गया हैं, कि क्रायोस्फीयर और ठोस पृथ्वी के निरीक्षणों के साथ हो रही पृथ्वी में हल चले एवं रखरखाव का भी अध्ययन के लिए बनाया गया हैं। इस योजना के अंतर्गत देश के वैज्ञानिकों द्वारा पृथ्वी को समझने के लिए कार्य करेंगे जिससे पृथ्वी के बारे  में पहले से ही भविष्य वाणी कर सकेंगे जिससे होने वाली आपदाओं से पहले ही लोगों को अवगत करा दिया जाएगा । इस योजना के नाम से ही आपको पता चल गया होगा कि पृथ्वी सी संबंधित जितनी भी चीजें होंगी, उनका अध्ययन किया जायेगा और टेक्नोलॉजी का अच्छा उपयोग करके समुद्र के अंदर मिलने वाले अवसर के बारे में अध्ययन करने की पूरी कोशिश करेंगे। टेक्नोलॉजी का उपयोग करके पृथ्वी प्रणाली के बारे में प्राप्त ज्ञान को बताने की कोशिश की जायेगी।

पृथ्वी विज्ञान योजना का बजट

पृथ्वी विज्ञान योजना का बजट हाल ही में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी देकर उसे पास कर दिया हैं, पृथ्वी विज्ञान का अध्ययन करने के लिए इनके द्वारा 4797 करोड़ का बजट रखा गया है इसी के अंतर्गत पृथ्वी प्रणाली और उनमें हो रही परिवर्तन साथ ही साथ महत्वपूर्ण संकेतों के बारे में बताया जायेगा। जब इस क्षेत्र में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त होने लगेगी तो हो सकता हैं कि भविष्य में बजट को बढ़ाया जा सके।

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना

पृथ्वी विज्ञान योजना के पाँच पहलू

इस योजना के तहत यह बताया गया हैं, कि पृथ्वी प्रणाली विज्ञान की समझ में सुधार और देश के लिए विश्वसानीय सेवा प्रदान करने के लिए पृथ्वी प्रणाली के सभी पाँच घटकों को समग्र रूप से शामिल करना है, क्योंकि पृथ्वी के यह जो घटक हैं, एक दूसरे पर निर्भर हैं, इसलिए इनका अध्ययन एक जगह रहकर करने की पूरी कोशिश की जायेगी।

  • एटमॉस्फेयर एंड क्लाइमेट रिसर्च मॉडलिंग ऑबजर्विंग सिस्टम।
  • ओशियन सर्विसेस मॉडलिंग एप्लिकेशन रिसोर्सेस एंड टेक्नोलॉजी।
  • पोलर साइंस एंड रिसर्च क्रायोस्फेयर रिसर्च।
  • सेस्मोलॉजी एंड जियो साइंस।
  • रिसर्च, एडुकेशन, ट्रेनिंग एंड आउटरिच।

पृथ्वी विज्ञान योजना के उद्देश्य

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य हैं, कि पृथ्वी के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त की जा सके।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य शुरू करने का यह भी है जो पृथ्वी में हल चले हो रहे है, उसके बारे में जानकारी पहले से ही हो जाए।
  • भूकंप एवं बाढ़ संबंधित जानकारी भी आसानी से प्राप्त हो जाए।
  • लोगों को पृथ्वी प्रणाली से संबंधित ज्ञान के बारे में अवगत कराने के लिए भी इस योजना को शुरू किया गया है।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह भी हैं, जिसके तहत समुद्र में संसाधनों की खोज भी आसानी से की जा सकती है।

बाल जीवन बीमा योजना

पृथ्वी विज्ञान योजना की विशेषताएं एवं लाभ

  • पृथ्वी विज्ञान में पृथ्वी का अध्ययन करने के लिए काफी बड़ी मात्रा में बजट जारी किया गया हैं।
  • यहाँ पर बहुत से वैज्ञानिकों द्वारा एक ही साथ पूरी पृथ्वी के बारे में अध्ययन किया जाएगा।
  • पृथ्वी का अध्ययन एक साथ इसलिए हो रहा हैं, क्योंकि जो पृथ्वी  के पहलू है, वह एक दूसरे पर निर्भर है। इसलिए इस योजना के तहत एक साथ लाने के लिए किया गया हैं।
  • यहाँ पर पृथ्वी के विभिन्न मंडलों के बारे में भी अध्ययन किया जाएगा।
  • वैज्ञानिकों द्वारा भूकंप के बारे में भी अध्ययन करना और लोगों को उससे संबंधित अवगत कराना हैं।
  • अभी हाल ही में यह पता चला था कि क्लाइमेट चेंज के कारण बहुत से ग्लेशियर पिघलने लगे हैं, उसके अध्ययन का जिम्मा इन्ही के उपर दिया गया हैं।
  • अन्य भौतिक आपदाओं के बारे में भी यह लोगों को अवगत कराने की पूरी कोशिश करेंगे।

आशा करता हूँ कि हमारे द्वारा यह जो लेख लिखा गया हैं वह आपको काफी पसंद आया होगा और इसके बारे में आपको पूरी जानकारी प्राप्त हो गई होगी। मैंने पूरी कोशिश की है, कि आपको इसके बारे में जो जरूरी तत्व है, उन्हें आपसे शेयर करके आपके ज्ञान में वृद्धि किया जा सके। यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हैं, तो आप अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को भी शेयर करके उन्हें भी इसका हिस्सा बनाएं।

यदि आप कुछ पूछना चाहते है, तो हमारे कॉमेंट बॉक्स में कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

होमपेजयहां क्लिक करें
अधिकारिक वेबसाइटजल्द ही

FAQ

Q : पृथ्वी विज्ञान क्या है?

Ans : संपूर्ण पृथ्वी का अध्ययन

Q : पृथ्वी विज्ञान के लिए कितना बजट पास किया गया हैं?

Ans : 4797 करोड़।

Q : पृथ्वी विज्ञान योजना को किसके द्वारा जारी किया गया हैं?

Ans : केंद्रीय मंत्रिमंडल के द्वारा.

Q : पृथ्वी विज्ञान योजना के तहत कैसे अध्ययन किया जाएगा?

Ans : पृथ्वी विज्ञान योजना के तहत संपूर्ण पृथ्वी जैसे पृथ्वी प्रणाली, समुद्र, मंडल आदि सभी का अध्ययन एक जगह किया जाएगा।

Q : पृथ्वी विज्ञान योजना का लाभ कैसे मिलेगा?

Ans : इसके लिए किसी भी आवेदन की जरूरत नहीं है, यह एक विकास योजना की तरह की है.

Video

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now