मिशन वात्सल्य योजना 2022 (Mission Vatsalya Scheme)

मिशन वात्सल्य योजना 2022 (अभियान, स्कीम, लाभार्थी, लाभ, दस्तावेज़, पात्रता, आधारिक वेबसाइट, रजिस्ट्रेशन, आवेदन, उद्देश्य, टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर, शासन निर्णय) Mission Vatsalya Yojana (Scheme, Launched Date, Salary, Staff, Guidelines, Helpline Number, Objective, Registration, Official Website, Eligibility , Documents, Beneficiaries, Benefits)

साल 2022 में फरवरी के महीने में देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने भारत के साल 2022 के आम बजट को प्रस्तुत किया, जिसका इंतजार काफी लंबे समय से देश के सभी लोग और अन्य राजनीतिक पार्टियां कर रहे थे। जैसा कि आप जानते हैं कि हर साल जब इंडिया का बजट पेश किया जाता है तब बजट में इंडिया के विकास के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाओं का ऐलान होता है और इसके लिए फंड भी जारी किया जाता है। इसी क्रम के अनुसार साल 2022 के बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा मिशन वात्सल्य नाम की योजना को चालू करने की घोषणा की गई है, जिसकी देख रहे स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय करेगा। आइए इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करते हैं।

मिशन वात्सल्य योजना 2022 (Mission Vatsalya Scheme)

योजना का नाममिशन वात्सल्य योजना  
किसने घोषणा कीवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
साल2022
लाभार्थीमहिलाएं और बच्चे  
बजट900 करोड़  
कार्यक्षेत्रपूरा भारत  
आधिकारिक वेबसाइटN/A  
टोल फ्री नंबरN/A  

मिशन वात्सल्य योजना क्या है (What is Mission Vatsalya)

आप जानते हैं कि, हमारे देश में वर्तमान के समय में कई बच्चे ऐसे हैं, जो जल्दी मृत्यु को प्राप्त हो जा रहे हैं, जिसका मुख्य कारण उन तक पोषण वाला दूध की पहुंच की कमी है, क्योंकि उनकी माता को ही सही पोषण वाला भोजन नहीं मिल पाता है। इसलिए भारत में पैदा होने वाले बच्चों की मृत्यु दर में कमी आए, साथ ही स्तनपान को प्रोत्साहन मिले, इसी लिए गवर्नमेंट ने मिशन वात्सल्य को चालू करने की घोषणा की है।

बता दे कि कुछ जगह पर इसे मैत्री अमृत कोष भी कहा जाता है। इस मिशन की देखरेख करने की जिम्मेदारी गवर्नमेंट के द्वारा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय को दी गई है। हाल ही में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने साल 2022 में भारत के आम बजट को पेश किया, जिसमें उन्होंने इस बात को भी घोषित किया कि गवर्नमेंट मिशन वात्सल्य को आगे ले जाने के लिए पूरी तरह से तैयार है, ताकि बच्चों को भी इसका फायदा प्राप्त हो सके और महिलाओं को भी इसका फायदा प्राप्त हो सके।

बता दें कि बाल विकास मिनिस्ट्री के द्वारा मुख्य स्कीम को कुल मिलाकर 3 पार्ट में डिवाइड किया गया है, जिसमें पहला पार्ट है मिशन पोषण 2.0, दूसरा पार्ट है मिशन शक्ति और तीसरा पार्ट है मिशन वात्सल्य।

मिशन वात्सल्य उद्देश्य (Mission Vatsalya Objective)

हर माता यही चाहती है कि उसका बेटा/बेटी बिल्कुल स्वस्थ पैदा हो और वह उसके बुढ़ापे की लाठी का सहारा बने, परंतु कई बार कुछ परिस्थितियां ऐसी आ जाती है, जिसमें उसके बेटे/बेटी की मृत्यु हो जाती है। आमतौर पर ऐसी परिस्थिति का निर्माण तब होता है, जब बेटे/बेटी को सही प्रकार का पोषण नहीं मिल पाता है, क्योंकि जब माता को ही सही पोषण नहीं मिलता है तो भला वह अपने बच्चे को स्तनपान कैसे करवाएगी।

इसलिए गवर्नमेंट ने ऐसी महिलाओं की समस्या को देखते हुए मिशन वात्सल्य को चालू करने की घोषणा की है जो स्तनपान को बढ़ावा देने का काम करेगी और पैदा होने वाले बच्चों की मृत्यु दर में कमी लाने का काम करेंगी। इससे इंडिया में कई परिवार उजड़ने से बच जाएंगे।

मिशन वात्सल्य शासन निर्णय एवं लाभ (Mission Vatsalya Guidelines, Benefit)

• वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने साल 2022 में इसे चालू करने की घोषणा की है, जिसका सारा कार्यभार स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय संभालेगा।

• मिशन वात्सल्य के अंतर्गत भारत की राजधानी दिल्ली में नेशनल हुमन मिल्क बैंक की स्थापना हो चुकी है।

• इस मिशन के कारण महिलाएं स्तनपान करवाने के लिए मोटिवेट होंगी।

• बता दें कि, मिशन वात्सल्य के अंतर्गत ब्रेस्टफीडिंग कंसल्टेंसी सेंटर भी बनाया जा चुका है।

• योजना के कारण संतानों की मृत्यु दर में काफी कमी आएगी।

• निर्मला सीतारमण ने बजट में इस मिशन पर 900 करोड रुपए खर्च करने की घोषणा की है।

मिशन वात्सल्य सैलरी (Mission Vatsalya Salary)

मिशन वात्सल्य योजना के अंतर्गत लाभार्थी महिलाओं को इस योजना के तहत लाभान्वित किया जाना है. इसके तहत उन्हें वेतन प्रदान किया जायेगा. जिसकी जानकारी अभी सरकार द्वारा नहीं दी गई है. इसे जल्द ही अपडेट कर दिया जायेगा.

मिशन वात्सल्य पात्रता (Mission Vatsalya Eligibility)

बता दें कि 2022 के बजट में इस योजना के विस्तार की बात निर्मला सीतारमण जी के द्वारा की गई है। परंतु अभी तक इस बात की घोषणा नहीं की गई है कि किन्हें इस योजना के अंतर्गत फायदा मिलेगा अथवा नहीं, इसलिए अभी हम पक्के तौर पर नहीं कह सकते कि कौन से लोग इस योजना के लाभार्थी बन सकते हैं अथवा कौन से लोग इस योजना के लिए पात्रता रखते हैं। इस योजना के लिए पात्रता की जानकारी हमें जैसे ही प्राप्त होगी, उसे हम आर्टिकल में डाल देंगे, ताकि आप पात्रता की इंफॉर्मेशन चेक कर सके।

मिशन वात्सल्य दस्तावेज (Mission Vatsalya Documents)

• आधार कार्ड

• पैन कार्ड (आवश्यकता पड़ने पर)

• फोन नंबर

• राशन कार्ड की फोटोकॉपी

• ईमेल आईडी (आवश्यकता पड़ने पर)

• पहचान सर्टिफिकेट

• एड्रेस सर्टिफिकेट

• कास्ट सर्टिफिकेट

मिशन वात्सल्य रजिस्ट्रेशन (Mission Vatsalya Registration)

जहां तक हमें जानकारी प्राप्त हुई है, इस योजना में अभी तक रजिस्ट्रेशन करने के बारे में गवर्नमेंट ने कोई भी इंफॉर्मेशन नहीं दी है। इसीलिए हम अभी आपको इस योजना में कैसे आप अप्लाई कर सकते हैं, इसकी जानकारी नहीं दे सकते हैं।

हालांकि प्राप्त सूत्रों के अनुसार भारत के ग्रामीण इलाकों में इस योजना में ऑफलाइन अप्लाई किया जा सकेगा। ग्रामीण इलाकों में काम करने वाली आशा वर्करों के पास स्तनपान कराने वाली महिलाओं की सारी जानकारी होती है। उन्हें के जरिए आप इस योजना की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया अगर आती है तो उसे हम आर्टिकल में डाल देंगे।

मिशन वात्सल्य हेल्पलाइन नंबर (Mission Vatsalya Helpline Number)

अभी तक कोई भी हेल्पलाइन नंबर मिशन वात्सल्य के लिए नहीं जारी किया गया है। इसलिए अभी आपको हम हेल्पलाइन नंबर नहीं दे सकते। जैसे ही कोई टोल फ्री नंबर अथवा हेल्पलाइन नंबर जारी होता है, उसे यहां पर हम ऐड कर देंगे।

FAQ

Q : मिशन वात्सल्य की योजना किसने घोषित की है?

Ans: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

Q : मिशन वात्सल्य के लिए कितना बजट दिया गया है?

Ans: 900 करोड़

Q : मिशन वात्सल्य से क्या होगा?

Ans: बच्चों की मृत्यु दर में कमी आएगी।

Q : मिशन वात्सल्य का टोल फ्री नंबर क्या है?

Ans: अभी तक गवर्नमेंट ने इसका कोई भी टोल फ्री नंबर जारी नहीं किया है। जैसे ही जारी होता है उसे आर्टिकल में अपडेट कर दिया जाएगा।

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment