मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2023 (Chhattisgarh Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana )

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2023अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर, लाभार्थी (Chhattisgarh Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana ,Official WebsiteHelpline Number)

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों का सपना सच करने के लिए और व्यावसायिक वृक्षारोपण को बढ़ावा देने के लिए छत्तीसगढ़ी गौरव दिवस के अवसर पर 17 दिसंबर 2022 के दिन मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना को जारी करने की बात कही है। ‌इस योजना को लागू करने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि छत्तीसगढ़ में ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाए जाएंगे और वहां के जो किसान है उनके लिए ये एक बहुत बड़ा अवसर होगा। छत्तीसगढ़ गौरव दिवस जिसे वर्चुअली आयोजित किया गया था उस प्रोग्राम में छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश ने ये बात कही थी। मुख्यमंत्री जी का ऐसा मानना है कि छत्तीसगढ़ को समृद्ध बनाने के लिए पेड़ पौधों को लगाना बहुत ज्यादा जरूरी है। और लोग अपने निजी क्षेत्र में पेड़ पौधे लगाए ये चीज भी बहुत जरूरी है इसीलिए किसानों के साथ-साथ सरकार का सपना पूरा करने के लिए इस योजना को लागू किया जा रहा है।

Chhattisgarh Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2023

योजना का नाममुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना
योजना कब लागू हुआ17 दिसंबर 2022
किसने लागू कियाछत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल
योजना का टाइपराजकीय योजना
लाभान्वित लोगछत्तीसगढ़ की जनता

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना की पूरी जानकारी

राज्य सरकार के 4 साल पूरे हो जाने के अवसर पर छत्तीसगढ़ गौरव दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना जारी की गई है। सरकार ने इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपए का बजट तैयार किया है। इस बजट के साथ छत्तीसगढ़ में छात्रावासों,आश्रमों‌,शालाओं वो अन्य भवनों के रख रखाव और उस में वृक्षारोपण करने के लिए और उनके उन्नयन के लिए 1000 करोड रुपए का बजट पेश किया गया है।

इस योजना को लागू करने के साथ मुख्यमंत्री ने तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में सुधार लाने के लिए ‘स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट आईटीआई योजना’ के अंदर 1200 करोड़ रुपए का बजट बनाया गया है। इस योजना के लागू हो जाने के बाद छत्तीसगढ़ की जनता के मन में राज्य सरकार के प्रति प्यार और सम्मान की भावना और ज्यादा बढ़ गई है।

बहुत से लोगों को कहना है कि छत्तीसगढ़ सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार बढ़ाने के साथ-साथ छत्तीसगढ़ की संस्कृति को आगे ले जाने का काम भी कर रही है। किसान जो देशभर में हर किसी के लिए अन उगाते हैं या यूं कहें कि जो हमारे लिए अन्नदाता की तरह काम करते हैं उन्हें समृद्ध बनाने के लिए ही इस योजना को जारी किया गया है।

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना का उद्देश्य

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना को लागू करने के पीछे छत्तीसगढ़ सरकार का उद्देश्य केवल छत्तीसगढ़ राज्य को एक हरा-भरा राज्य बनाना है तात्पर्य ये है कि इस योजना को जारी करके राज्य सरकार छत्तीसगढ़ के नागरिकों को अपनी निजी भूमि पर व्यावसायिक उद्देश्य से वृक्षारोपण करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है।

 साथ ही साथ सरकार छत्तीसगढ़ के निवासियों को लकड़ी का उद्योग करने के लिए भी प्रेरित कर रही है ताकि उन्हें पेड़ों से ही आय प्राप्त हो सके। इस योजना के लागू हो जाने के बाद छत्तीसगढ़ में न सिर्फ पेड़ पौधे, हरियाली व समृद्धि होगी बल्कि छत्तीसगढ़ के निवासियों खासकर महिलाओं को आजीविका मिलेगी।

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना की विशेषता

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना को जल्द से जल्द कार्यान्वित किया जा रहा है साथ योजना को आगे बढ़ाने के लिए कई सारे कदम उठाए गए हैं जैसे –

  • मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना के तहत ग्राम को वृक्ष या यूं कहे की फसल लगाने का केंद्र बनाया जा रहा है और शहरों को व्यवसाय व वाणिज्य का केंद्र बनाया जा रहा है।
  • इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के महिलाएं  9 हजार से ज्यादा गौठानों में वर्मी कंपोस्ट तैयार करने, गोबर खरीदने जैसे कामों में संलग्न रहेंगी जिसके कारण उन्हें घर बैठे बैठे ही आजीविका मिलेगी।
  • महिलाओं द्वारा गौठानों में जो 20 लाख क्विंटल वर्मी कंपोस्ट खाद तैयार की जाएगी उसे हाथो हाथ खेत में पहुंचा दिया जाएगा।
  • गौठानों के द्वारा इस तरह से वर्मी कंपोस्ट बनाने से सरकार की यही कोशिश है कि दुनिया में ग्लोबल वॉर्मिंग कम करने में व कार्बन उत्सर्जन कम करने में छत्तीसगढ़ भी अपना रोल निभा सके।
  • इस योजना के लागू हो जाने के बाद गौठान समितियों को 15 से 16 लाख रूपए दे दी जाएगी जिससे कि वे गोबर खरीद सके और छत्तीसगढ़ के विकास के लिए कार्य कर सकें।

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना में अब तक क्या-क्या किया गया है ?

वैसे तो मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना हाल ही में शुरू किया गया था लेकिन इसमें काफी तेजी से काम शुरू कर दिया गया है‌। जिस दिन लिए योजना लागू किया जाने वाला था उसी कार्यक्रम के दौरान नवा रायपुर में संत शिरोमणी गुरू घासीदास बाबा स्मारक एवं संग्रहालय का भूमिपूजन किया गया है जिसकी  लागत 4.86 करोड़ रूपए हैं। इसी लागत के साथ 14 कार्यो का भूमिपूजन-लोकार्पण 33.96 करोड़ रूपए की लागत में किया गया। जिसमें छोटी जाति खास तौर पर अनुसूचित जाति व जनजाति के लोगों को कार्य प्रदान किया जाएगा‌।

जिस समय मुख्यमंत्री जी इस योजना को लागू कर रहे थे उस समय उनके साथ कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, मुख्यमंत्री के सलाहकार द्वय श्री विनोद वर्मा और श्री राजेश तिवारी, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ.शिवकुमार डहरिया, मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन व छत्तीसगढ़ राज्य खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष श्री रामगोपाल अग्रवाल सभी लोग उपस्थित थे। योजना के अंतर्गत युवाओं को ज्यादा से ज्यादा रोजगार का अवसर प्रदान करने के लिए 300 रूरल इंडस्ट्रियल पार्क तैयार किया जा रहा है। ये पार्क सिर्फ एक मैदान नहीं होंगे बल्कि इसमें मिट्टी पानी और बिजली तीनों की ही सुविधा अलग से प्रदान की जाएगी।

इस जगह पर युवाएं खास तौर पर वो लोग जिनके पास कोई रोजगार नहीं है वो अपना छोटा मोटा व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना को लागू करने के बाद मुख्यमंत्री ने क्या कहा ?

छत्तीसगढ़ गौरव दिवस के अवसर पर लागू किए गए मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना के बारे में छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री ने काफी सारी बातें कही है!

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश जी का कहना है कि मुख्यमंत्री पद का शपथ लेने के बाद वे सीधा मंत्रालय चले गए थे। और वहां उन्होंने 19 लाख किसानों के लिए 11000 करोड़ का ऋण माफ करने और 2500 रुपए में धान की खरीदारी करने की बात कही है।

इस योजना को लागू करने के साथ मुख्यमंत्री ने कहा है कि योजना को लागू कर देने के बाद वो महिलाएं जो खेती करके अपना जीवन यापन करते हैं। उनका जीवन बेहतर बनेगा आज हमारे पुरखों ने जिस तरह के समृद्ध, विकसित व खुशहाल छत्तीसगढ़ का सपना देखा था वो सपना अब पूरा होगा।

होमपेजयहां क्लिक करें

 FAQ:

Q. 1मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना को किसने लागू किया ?

Ans: छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने !

Q.2 मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना के अंतर्गत कितना बजट तैयार किया गया है ?

Ans: 100 करोड़ रुपए !

Q.3 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट आईटीआई योजना के अंतर्गत कितने रुपए खर्च किए जाएंगे ?

Ans: 1000 करोड़ रुपए !

Q. 4 मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना का उद्देश्य क्या है ?

Ans: मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना का उद्देश्य निजी वृक्षारोपण और लकड़ी से संबंधित उद्योग को बढ़ावा देना है।

Other Links:

  1. मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री युवा इंटर्नशिप योजना
  2. मुख्यमंत्री बालक/बालिका प्रोत्साहन योजना बिहार
  3. Maharashtra Swadhar Yojana
  4. पीएम स्वनिधि योजना

Leave a Comment